वर्जीनिया के लेफ्टिनेंट गवर्नर की दौड़ में भारतीय-अमेरिकी
Sunday, 27 September 2020 19:15

  • Print
  • Email

वाशिंगटन: वर्जीनिया के लेफ्टिनेंट गवर्नर के लिए रिपब्लिकन नामांकन में पुनीत अहलूवालिया का नाम सामने आया है, जो एक भारतीय-अमेरिकी व्यापार सलाहकार हैं। रिपोर्ट के अनुसार, उनका कहना है कि राज्य को निवेश, रोजगार, विकास और धन को आकर्षित करने के लिए एक नए नेतृत्व की आवश्यकता है।

अमेरिकन बाजार की शनिवार की रिपोर्ट में 55 वर्षीय के बयान का हवाला देते हुए कहा गया कि, "वर्जीनिया अभी मुसीबत में है, और हम वक्त से पीछे चल रहे हैं, क्योंकि डेमोक्रेट वही पुराने थके हुए वादे पेश करते हैं।"

दिल्ली में जन्मे अहलूवालिया ने अपने समर्थकों से अपनी टिप्पणी में कहा, "वर्जीनिया को नए विचारों और एक कारोबारी माहौल की आवश्यकता है जो निवेश, रोजगार, विकास और धन को आकर्षित करेगा।"

उन्होंने आगे कहा, "वर्जीनिया को अपनी कड़ी मेहनत और साहसी पुलिस का समर्थन करने, द्वितीय संशोधन अधिकारों की रक्षा करने और कानून और व्यवस्था के लिए खड़े होने की आवश्यकता है।"

साल 1990 में अमेरिका चले गए दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) के पूर्व छात्र अहलूवालिया द लिविंगस्टन ग्रुप के साथ ग्राहक अधिग्रहण, मार्केटिंग और रणनीतिक मामलों पर अंतर्राष्ट्रीय व्यवसायों के लिए एक सलाहकार के रूप में कार्य करते हैं।

अहलूवालिया ने लिखा, "मैं एक अमेरिकी के तौर पर नहीं जन्मा हूं, लेकिन मेरी पत्नी और मैं पसंद के हिसाब से अमेरिकी हैं। मैं कोई राजनीतिज्ञ नहीं हूं, मैं अमेरिकी सपने को जीने वाला एक गौरवान्वित अमेरिकी हूं।"

दो दशकों से अधिक समय से रिपब्लिकन पार्टी की राजनीति में सक्रिय अहलूवालिया उत्तरी वर्जीनिया रिपब्लिकन बिजनेस फोरम पर भी काम करते हैं।

--आईएएनएस

एमएनएस/जेएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.