रजनीकांत जल्द ही सक्रिय राजनीति में आने की घोषणा करेंगे
Monday, 30 November 2020 18:10

  • Print
  • Email

चेन्नई: अभिनेता रजनीकांत ने सोमवार को 'रजनी मक्कल मंद्रम' के जिला सचिवों से कहा कि वह मीडिया के माध्यम से जल्द ही अपने सक्रिय राजनीति में आने के निर्णय की घोषणा करेंगे। दो जिला सचिवों ने यहां संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि अभिनेता ने उनसे कहा कि वह एक राजनीतिक पार्टी बनाने और राजनीति में उतरने पर फैसला करेंगे।

रजनीकांत जल्द ही तमिलनाडु की राजनीति में सक्रिय रूप से कूदने के बारे में अपने फैसले की घोषणा करेंगे। दो जिला सचिवों ने सोमवार को अभिनेता से मुलाकात के बाद यह बात कही।

मंद्रम के अधिकारियों के अनुसार, उन्होंने रजनीकांत की स्वास्थ्य स्थिति पर भी चिंता व्यक्त की और कहा कि 2021 तमिलनाडु विधानसभा चुनाव लड़ना उचित मौका होगा।

बैठक करीब दो घंटे तक चली। बैठक के बाद उन्होंने अपने राघवेंद्र कल्याण मंडपम के बाहर इकट्ठी भीड़ का हाथ हिलाकर अभिवादन किया।

यह भी कहा जा रहा है कि रजनीकांत ने जिला सचिवों से कहा था कि उनके साथ राजनीति में पैसा कमाना किसी के लिए भी संभव नहीं है।

पिछले महीने रजनीकांत ने ट्वीट किया था कि वह अपनी स्वास्थ्य स्थिति के बारे में रजनी मक्कल मंद्रम के अधिकारियों के साथ परामर्श करेंगे और लोगों को अपने राजनीतिक रुख से अवगत कराएंगे।

तमिलनाडु विधानसभा का चुनाव 2021 में होना है।

अभिनेता ने इस बात पर जोर देते कि वह सत्ता की खातिर राजनीति में नहीं आ रहे, इस वर्ष मार्च में खुद को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पद की दौड़ से बाहर कर लिया और कहा कि सिस्टम में बदलाव की तत्काल जरूरत है।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के लिए उनकी पार्टी के 60-65 प्रतिशत उम्मीदवार 45-50 वर्ष की आयु के होंगे। शेष सीटें अन्य पार्टियों में अच्छे लोगों, पेशेवरों, न्यायाधीशों और पूर्व आईएएस अधिकारियों के पास जाएंगी।

रजनीकांत ने 31 दिसंबर, 2017 को 'आध्यात्मिक राजनीति' करने और 2021 में तमिलनाडु की सभी 234 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए एक राजनीतिक पार्टी का गठन करने की अपने फैसले की घोषणा की थी।

अभिनेता ने उस समय कहा कि राजनीति में उनका प्रवेश समय की मांग है, क्योंकि देश की राजनीति गलत दिशा में जा रही है।

रजनीकांत ने टिप्पणी की थी कि पहले के राजा अन्य देशों पर आक्रमण करते थे और उन्हें लूटते थे, आजकल राजनीतिक दल लोकतंत्र की आड़ में अपने ही लोगों को लूट रहे हैं। उन्होंने कहा कि सिस्टम में बदलाव की जरूरत है।

2017 के बाद, रजनीकांत ने कुछ मुद्दों पर अपने विचार व्यक्त किए हैं। तूतीकोरिन में एंटी-स्टरलाइट कॉपर स्मेल्टर प्लांट विरोध और पुलिस फायरिंग में 13 लोगों की हत्या के मद्देनजर, उन्होंने कहा कि अगर हर चीज के लिए विरोध प्रदर्शन किया गया तो तमिलनाडु एक कब्रिस्तान में बदल जाएगा।

बाद में, उन्होंने कहा कि वह भाजपा के माउथपीस नहीं हैं और उन्हें भगवा रंग में रंगने की कोशिश की जा रही थी।

--आईएएनएस

वीएवी/एसजीके

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss