Print this page

दुष्कर्म मामले में पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप, पीड़िता ने जान दी
Tuesday, 30 July 2019 10:48

जयपुर: दुष्कर्म की शिकायत किए जाने के बाद भी पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने से दुखी पीड़िता ने रविवार को खुद को आग लगा ली। सोमवार को उसकी अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस ने कहा कि यह घटना वैशाली नगर पुलिस थाने में हुई। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने आग बुझाने की कोशिश की और उसे तत्काल एसएमएस अस्पताल पहुंचाया, लेकिन सोमवार को उसकी मौत हो गई।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि उसने एक महीने पहले शिकायत दी थी। इसमें उसने रविंदर सिंह पर चार साल तक दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था।

शिकायत में उसने कहा था कि आरोपी ने उसकी फिल्म भी बना ली थी और उसे वायरल करने की धमकी देता था।

सरकार के एक सूत्र ने कहा कि वह पुलिस से लगातार आग्रह करती रही, फिर भी कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद उसे जीवन खत्म करने का कठिन फैसला करना पड़ा।

पुलिस आयुक्त की तरफ से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है, "पीड़िता ने पांच जून को शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें उसने अपने देवर पर पिछले चार साल से दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था।"

महिला का पति सेना में है और शहर से बाहर रहता है। ऐसे में आरोपी उसके कुछ कामों में मदद करता था। एक दिन उसने उसे होटल बुलाया और वहां उसके दुष्कर्म किया और फिल्म बना ली।

विज्ञप्ति में कहा गया है, "वैशाली नगर थाने के एसएचओ संजय गोधरा ने मामले की जांच के दौरान पीड़िता और आरोपी के बीच बातचीत की रिकार्डिग हासिल की, जिससे पता चला कि दोनों के बीच सहमति से संबंध है। महिला अपने बेटे सहित आरोपी के साथ यात्रा भी करती थी।"

उसने आरोपी को अपने नाम से खरीदा गया मोबाइल फोन भी दिया था। जिस होटल में दोनों जाया करते थे, वहां स्टाफ ने बताया कि दोनों खुशी-खुशी आया-जाया करते थे।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि दोनों के बीच संबंध तब बिगड़ने शुरू हुए, जब आरोपी की सगाई हुई। इसके बाद उसने पुलिस में दुष्कर्म की शिकायत की।

रविवार को वह वैशाली नगर थाने पहुंची और एसएचओ के बारे में पूछा। जब उसे बताया गया वह किसी काम से बाहर गए हैं, तब उसने केरोसिन तेल डालकर आग लगा ली।

--आईएएनएस