Print this page

नाबालिग से दुष्कर्म के बाद जयपुर में तनाव
Wednesday, 03 July 2019 10:13

जयपुर: सात साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के विरोध में लोगों के एक समूह ने एक पुलिस स्टेशन को घेर कर प्रदर्शन किया और कई वाहनों में तोड़फोड़ की, जिसके बाद से यहां तनाव व्याप्त हो गया है। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने कहा कि खुद को बच्ची के पिता का दोस्त बताकर एक व्यक्ति मासूम को अपने साथ ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद वह बच्ची को सड़क पर लहूलुहान हालत में छोड़कर चला गया।

सोमवार रात बच्ची के परिजन उसे कनवतिया अस्पताल ले गए, जहां से उसे जेके लोन अस्पताल रेफर किया गया।

लड़की को सर्जिकल आईसीयू में भर्ती कराया गया है। मेडिकल रिपोर्ट में कहा गया है कि उसके सीने पर खरोंच और माथे पर चोट के निशान हैं।

उसके निजी भाग में खरोंच के निशान है और उसकी हालत स्थिर बनी हुई है।

घटना के बाद, मंगलवार सुबह जयपुर के शास्त्री नगर इलाके में तनाव बढ़ गया क्योंकि प्रदर्शनकारियों ने सोमवार रात कई कारों के शीशे तोड़ दिए थे।

संभागीय आयुक्त के.सी. वर्मा ने 3 जुलाई सुबह 10 बजे तक शहर के 13 क्षेत्रों में इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया है।

पास्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है और पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग को लेकर कंवतिया अस्पताल के पास भारी भीड़ जमा हो गई थी।

पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्तव ने कहा, "लड़की खतरे से बाहर है। वरिष्ठ डॉक्टर उसका इलाज कर रहे हैं। हम आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद उसे कठोरतम सजा दिलाने का प्रयास करेंगे।"

उन्होंने लोगों से अफवाहों पर विश्वास न करने का आग्रह किया।

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास मंगलवार को लड़की का हाल जानने अस्पताल पहुंचे।

उन्होंने कहा, "आरोपी को पकड़ने की हम कोशिश कर रहे हैं। इस तरह का अपराध करने वाले लोगों की हमारे समाज में कोई जगह नहीं है।"

उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि इस मामले का राजनीतिकरण न किया जाए।

स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बच्ची के मुफ्त इलाज का आदेश दिया है।

--आईएएनएस