पहलू खान को मरणोपरांत पशु तस्करी के लिए किया गया नामजद
Saturday, 29 June 2019 21:32

  • Print
  • Email

जयपुर: पहलू खान को उसकी मौत के दो साल बाद पशु तस्करी के मामले में नामजद किया गया है। दो साल पहले वर्ष 2017 में भीड़ ने पीट-पीट कर उसकी हत्या कर दी थी। राजस्थान पुलिस ने शनिवार को पहलू खान के खिलाफ एक आरोप-पत्र दायर किया, जिसमें उसके खिलाफ गो तस्करी और गो वध करने का आरोप लगाया गया है।

अलवर में जयपुर-दिल्ली राजमार्ग पर अप्रैल 2017 में खान को पीट-पीटकर मार डाला गया था।

खान अपने बेटों के साथ जयपुर के एक मेले से मवेशियों को खरीद कर हरियाणा के नूह स्थित अपने घर ला रहा था।

आरोप-पत्र में मरणोपरांत पहलू खान को 'गाय तस्कर' घोषित किया गया है और उस पर राजस्थान गोवंश पशु अधिनियम 1995 की विभिन्न धाराओं के तहत आरोप लगाए गए हैं।

उसके बेटों इरशाद (25) और आरिफ (22) पर भी गौ तस्करी और वध का मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप-पत्र में एक पिक-अप ड्राइवर का भी नाम शामिल है।

पुलिस के सूत्रों ने कहा कि मामले में दो प्राथमिकी दर्ज है। पहली में भीड़ द्वारा हत्या करने के चलते आठ लोगों पर और दूसरी में प्रशासन से बिना अनुमति के मवेशियों के परिवहन के लिए खान और उसके बेटों पर।

बहरोड़ पुलिस थाने के प्रभारी सुगंध सिंह ने कहा, "खान के खिलाफ सात मामले दर्ज किए गए और सात आरोपियों को अदालत में पेश किया गया। अदालत में इन मामलों में मुकदमा चल रहा है।"

सिंह ने कहा, "खान के खिलाफ यह आरोप पत्र 30 दिसंबर, 2018 को राजस्थान में कांग्रेस सरकार के गठन के दिन दायर किया गया था।"

आरोप-पत्र को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन(एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस की आलोचना की।

ओवैसी ने ट्वीट किया, "कांग्रेस 'सत्ता' में भाजपा की प्रतिकृति है, राजस्थान के मुसलमानों को इसका एहसास होना चाहिए।"

उन्होंने कहा, "जनता को चाहिए कि ऐसे लोगों/संगठनों को अस्वीकार करें, जो कांग्रेस पार्टी के दलाल हैं और अपना स्वतंत्र राजनीतिक मंच विकसित करना शुरू कर रहे हैं। 70 साल एक लंबी अवधि है। कृपया बदलें।"

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मामले में जांच भाजपा की पूर्व सरकार ने की थी।

उन्होंने कहा, "हमारी सरकार के तहत केवल आरोप पत्र दायर किया गया है। अगर वसुंधरा राजे सरकार के तहत जांच में कोई गड़बड़ी पाई गई, तो हम जांच करेंगे। कुछ भी गलत सामने आने पर नए सिरे से जांच का आदेश दिया जाएगा।"

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss