दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने किया मोबाइल RT-PCR लैब का उद्घाटन
Monday, 23 November 2020 14:11

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले पर काबू पाने के लिए जांच की संख्या में बढ़ोतरी की जा रही है। इस क्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को मोबाइल RT-PCR लैब का उद्घाटन किया। अंसारी नगर के ICMR मुख्यालय में लैब के उद्घाटन के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी मौके पर मौजूद रहे।

बताया जा रहा है कि मोबाइल RT-PCR लैब से उन लोगों की भी जांच की जा सकेगी जो लोग अस्पतालों में नहीं जाना चाहते। चलते-फिरते वाहन से यह जांच की जा सकेगी। 

वहीं, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के महानिदेशक एसएस देसवाल ने कहा कि छतरपुर के कोविद केयर सेंटर में बेड की संख्या दो हजार से बढ़ाकर तीन हजार किया जाएगा। इसके अतिरिक्त बेडों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुविधा भी शामिल होगी। उन्होंने कहा कि इसका लाभ दिल्ली-एनसीआर के कोरोना मरीज कर सकेंगे।

बता दें कि राजधानी दिल्ली में कोरोना की आरटीपीसीआर जांच बढ़ गई है। पिछले दो दिनों से 21 हजार से अधिक सैंपल की आरटीपीसीआर जांच हो रही है। हालांकि शनिवार व रविवार को सामान्य दिनों के मुकाबले कम जांच होती है। इसलिए उम्मीद है कि सोमवार से कोरोना की जांच ज्यादा बढ़ जाएगी।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि दिल्ली में आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल कलेक्शन बढ़ गया है। 19 अक्टूबर को आरटीपीसीआर जांच के लिए 30,735 सैंपल लिए गए, जबकि 15 नवंबर को 12,055 सैंपल ही लिए गए थे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की दिल्ली सरकार के साथ बैठक के बाद भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने दिल्ली में आरटीपीसीआर जांच की क्षमता 27 हजार से बढ़ाकर 37 हजार कर दिया है। आरटीपीसीआर व एंटीजन जांच मिलाकर दिल्ली में प्रतिदिन एक लाख सैंपल जांच करने का फैसला किया गया है। मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि डीआरडीओ के अस्पताल के लिए 250 वेंटिलेटर उपलब्ध करा दिए गए हैं। जिन्हें आइसीयू में लगाया जा रहा है। इसके अलावा एम्स ने 207 जूनियर डॉक्टरों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की है। इससे डॉक्टरों की कमी दूर हो सकेगी।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss