बसों में महिला सुरक्षा के लिए 20 स्पेशल मोबाइल टीमें
Wednesday, 18 November 2020 20:15

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: सार्वजनिक परिवहन से यात्रा करते समय महिला सुरक्षा इन दिनों प्रमुख चिंता का विषय है। डीटीसी दिल्ली में, दैनिक आधार पर 3762 सार्वजनिक परिवहन बसों का संचालन करती है, जिसके माध्यम से कई महिला यात्रियों सहित लाखों यात्री आवागमन करते हैं। सुरक्षा के लिए अब डीटीसी विशेष प्रवर्तन दल तैनात कर रहा है, जो अलग अलग मार्गों में बस चेकिंग का संचालन करेगा। बुधवार को महिला सुरक्षा एवं प्रवर्तन सम्बन्धी गतिविधि हेतु 20 मारुति ईको वैन के संचालन का उद्घाटन किया गया। इससे पहले बसों में महिला सुरक्षा हेतु मार्शल की तैनाती की जा चुकी है। इसमें भी काफी संख्या में महिला मार्शल शामिल हैं।

ये वैन आईजीएल द्वारा कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के तहत डीटीसी को प्रदान की गई हैं। सभी डीटीसी बसों में पहले से ही सीसीटीवी, जीपीएस और पैनिक बटन लगाए जा रहे हैं। आपातकाल की स्थिति में पैनिक बटन दबाये जाने पर कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को एक सिग्नल चला जाएगा, जो स्थिति की नजाकत के आधार पर ट्रैफिक पुलिस, एम्बुलेंस, डिपो नियंत्रण कक्ष और फायर सर्विसेज आदि को सम्बंधित अलर्ट भेज देगा।

इसके साथ ही डिपो कंट्रोल रूम तुरंत क्षेत्रीय नियंत्रण कक्ष के माध्यम से निकटतम ईको वैन को मौके पर भेजेगा। ईको वैन पर तैनात ट्रैफिक चेकिंग इंस्पेक्टर और मार्शल मौके पर पहुंचकर उचित कार्रवाई करेंगे। आपातकालीन कॉल, स्थितियों के अलावा इन सभी वैन का उपयोग सड़क पर औचक निरीक्षण के माध्यम से परिचालन और महिला सुरक्षा की नियमित निगरानी के लिए भी किया जाएगा।

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने सरोजिनी नगर डिपो में इन 20 प्रवर्तन वाहनों के उद्घाटन पर कहा, "मुझे खुशी है कि दिल्ली सरकार, प्रवर्तन उपायों और महिला सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। बस मार्शलों की तैनाती और सभी बसों में सीसीटीवी और पैनिक बटन स्थापित किया जा रहा। प्रवर्तन परिवहन का एक प्रमुख पहलू है। हमारे कमांड सेंटर पूरी तरह कार्यात्मक होते जा रहे हैं। विशेष रूप से महिला सुरक्षा के लिए नामित ये वैन त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित करने में एक त्वरित प्रतिक्रिया टीम के रूप में कार्य करेंगे।"

उन्होंने आगे कहा, "परिवहन विभाग लगातार अपने सभी बस-पास अनुभागों को कम्प्यूटरीकृत कर रहा है। जिससे टिकट बुकिंग के स्मार्ट तरीकों को अपनाया जा सके। संपर्क रहित टिकटिंग सुविधा का और विस्तार किया जा सके। हम सभी आधुनिक सुविधाओं के साथ डिपो में बस पास अनुभागों का नवीनीकरण कर रहे हैं, हमारे सभी डिपो ऑनलाइन बस पास सुविधा को शुरू करने के लिए तैयार हैं, जो बस पास के लिए कैशलेस लेनदेन की दिशा में एक बड़ा कदम होगा।"

--आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss