मप्र में विकास की फिल्म बाकी : शिवराज
Tuesday, 15 September 2020 08:06

  • Print
  • Email

भोपाल: मध्यप्रदेश में भाजपा का चुनाव प्रचार अभियान जोरों पर है, विकास कार्यो का लोकार्पण और शिलान्यास का क्रम जारी है। भिंड जिले के मेहगांव व अशोकनगर के मुंगावली विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती की मौजूदगी में कहा कि जो लोकार्पण और शिलान्यास हो रहे हैं, ये तो एक ट्रेलर है, असली फिल्म तो अभी बाकी है। चौहान ने इन सभाओं में कहा कि विकास के जितने काम प्रदेश में और इस अंचल में भाजपा की सरकार ने किए हैं, कांग्रेस कभी नहीं कर पाई। जिन कामों का लोकार्पण या भूमिपूजन हो रहा है, ये तो एक ट्रेलर है, असली फिल्म तो अभी बाकी है। ये कमल नाथ की नहीं, भाजपा की सरकार है और विकास के कामों के लिए पैसे की कमी नहीं आने दी जाएगी।

चौहान ने कहा, "हमें उम्मीद थी कि 15 साल बाद कांग्रेस सत्ता में आई है तो पिछली गलतियों से सबक लेंगे, परंतु कमल नाथ ने सरकार कैसी चलाई सभी जानते हैं। इन 15 महीनों में कभी कोई काम नहीं हुआ। कमल नाथ और दिग्विजय सिंह ने पूरे प्रदेश और वल्लभ भवन को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया था। 15 महीनों में कमल नाथ कभी इस क्षेत्र में नहीं आए और न किसी से मिले। कमल नाथ कहते थे कि भोपाल से देखकर ही सभी समस्याएं दिख जाती हैं। अब कांग्रेस के लोग झूठ फैला रहे हैं।"

पूर्व मुख्यमंत्री, भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती ने कहा, "हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो आत्मनिर्भर भारत बनाना चाहते हैं, उसमें मध्यप्रदेश शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में एक मॉडल स्टेट बनेगा, क्योंकि मध्यप्रदेश के पास वो तमाम संसाधन मौजूद हैं, जो इसके लिए जरूरी हैं। प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए ऐसा नेतृत्व चाहिए, जो आत्मविश्वास से भरा हो। केंद्र की योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए एक सक्षम हाथ चाहिए। शिवराज में ये सभी खूबियां मौजूद हैं और विकास के काम में कोई कसर बाकी नहीं रखना उनका स्वभाव है।"

उमा ने कहा, "आजकल पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ यह कह रहे हैं कि हमारी सरकार वोटों की सरकार थी। मैं उनसे कहना चाहती हूं कि वोट भाजपा को ज्यादा मिले थे, लेकिन उनका वितरण इस प्रकार था कि कांग्रेस को कुछ सीटें ज्यादा मिली थीं। कांग्रेस की सरकार बन जरूर गई थी, लेकिन यह पता ही नहीं चल पा रहा था कि सरकार चला कौन रहा है?"

--आईएएनएस

एसएनपी/एसजीके

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.