पूर्वोत्तर में भूकंप के झटके, मिजोरम में इमारतों को नुकसान पहुंचा
Monday, 22 June 2020 16:16

  • Print
  • Email

आइजोल/कोहिमा: मिजोरम, आसपास के अन्य पूर्वोत्तर राज्यों और म्यांमार की सीमा से लगे इलाकों में सोमवार को रिक्टर पैमाने पर 5.5 की तीव्रता के हल्के और 12 घंटे में दूसरी बार भूकंप के झटके महसूस किए गए। पुलिस के अनुसार, फिलहाल किसी के हताहात होने की खबर नहीं है। हालांकि, कई घरों, इमारतों, चर्च और कम्युनिटी हॉल में भूकंप के झटकों के कारण दरारें पड़ गई हैं।

आईएमडी के अधिकारी ने बताया कि म्यांमार से सटे पूर्वी मिजोरम के चम्फाई क्षेत्र और अन्य हिस्सों में सोमवार अल सुबह 4.10 बजे भूकंप के झटके आए। भूकंप का केंद्र 20 किलोमीटर की गहराई पर था।

मिजोरम में रिक्टर पैमाने पर 5.1 और 5 की तीव्रता के भूकंप के झटके क्रमश: रविवार दोपहर (4.16 बजे) और गुरुवार की रात को भी महसूस किए गए थे। मिजोरम पुलिस ने स्थानीय लोगों के हवाले से कहा कि चम्फाई जिले में पूर्वी तुईपुई विधानसभा क्षेत्र के कई हिस्सों में झटके महसूस किए गए।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "स्थानीय लोगों ने बताया कि आधे घंटे के बाद एक बार फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए। 20 से अधिक घरों, इमारतों, चर्च और कम्युनिटी हॉल में झटके के बाद दरारें पड़ गईं।"

स्थानीय लोगों के अनुसार, सोमवार की सुबह का भूकंप हाल के दिनों में मिजोरम में आया सबसे जोरदार भूकंप मालूम पड़ता है।

आईएमडी अधिकारी ने कहा कि नागालैंड के कई हिस्सों में भी सोमवार दोपहर 12.40 बजे रिक्टर पैमाने पर 2.8 की तीव्रता वाली भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। भूकंप का केंद्र 6.6 किलोमीटर की गहराई पर था। नागालैंड में कोई नुकसान होने या किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.