एशिया कप हॉकी : बिना दबाव के फाइनल में कोरिया से भिड़ेगा भारत
Saturday, 31 August 2013 16:18

  • Print
  • Email

इपोह (मलेशिया): अगले साल द हेग में होने वाले एफआईएच विश्व कप के लिए सीट सुरक्षित कराने के बाद भारतीय हॉकी टीम रविवार को एशिया कप के फाइनल में मौजूदा चैम्पियन दक्षिण कोरिया से भिड़ेगा। भारतय खिलाड़ियों पर किसी प्रकार का दबाव नहीं होगा, ऐसे में उनसे तीसरे खिताब की आशा की जा सकती है। भारत पर दबाव इसलिए नहीं होगा क्योंकि वह विश्व कप के लिए क्वालीफाई कर चुका है और साथ ही साथ उसने ग्रुप स्तर पर कोरिया को पराजित किया है।

कोरिया के खिलाफ भारत का खेल बहुत अच्छा रहा था। भारतीय रक्षापंक्ति ने उम्दा प्रदर्शन किया और अग्रिम पंक्ति ने बेहतर तालमेल दिखाया था।

अब भारत को एक बार फिर उसी ढर्रे पर चलते हुए कोरियाई अग्रिमपंक्ति को रोकते हुए बेहतर तालमेल के साथ उसके खिलाफ आक्रमण जारी रखना होगा। भारत ने ग्रुप मैच में पेनाल्टी कार्नर पर कोरिया के गोल करने के पांच प्रयासों को नाकाम किया था।

कोरियाई खिलाड़ी पेनाल्टी कार्नर के विशेषज्ञ माने जाते हैं और इसका सबूत उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में इसके जरिए ही दो गोल करके दिया है।

मलेशिया के खिलाफ भारतीय अग्रिमपंक्ति थोड़ी सुस्त दिखी थी लेकिन अंतिम क्षणों में रमनदीप और मंदीप ने आपसी तालमेल के जरिए जो गोल किया था, उससे यही लगा कि अंतिम क्षणों में ही सही लेकिन भारत ने खुद को उस सुस्ती से उबार लिया है।

यह अच्छा संकेत है क्योंकि कोरियाई खिलाड़ी मैदान पर पूरे 70 मिनट चपल और सचेत रहते हैं, ऐसे में किसी भी तरह की सुस्ती टीम को भारी पड़ सकती है।

भारत के पास कोरिया और पाकिस्तान की बराबरी करने का बेहतरीन मौका है। कोरिया और पाकिस्तान ने तीन-तीन बार एशिया कप खिताब जीता है जबकि भारत अब तक दो बार यह खिताब जीत सका है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.