एमएमए में विश्व खिताब जीतने का सपना ज्यादा दूर नहीं : रितु फोगाट
Thursday, 22 October 2020 17:33

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: भारत की स्टार एथलीट और वन चैंपियनशिप की फाइटर रितु फोगाट 30 अक्टूबर को सिंगापुर में होने वाले अपने अगले मुकाबले में एक और जीत दर्ज करने उतरेंगी। 25 साल की रितु ने बीते साल वन चैम्पियनशिप में कदम रखा था और यहां वह शानदार चमक दिखाते हुए लगातार दो जीत हासिल कर चुकी हैं और अपने अगले मुकाबले में उन्हें कंबोडिया की नोउ श्रे पोव से भिड़ना है।

रितु ने इस साल फरवरी में एमएमए की अपनी दूसरा फाइट में अनुभवी प्रतिद्वंद्वी चीन की वू चियाओ चेन को हराया था।

रितु ने कोरोना महामारी का अपने ऊपर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर कहा, "हां, इससे मेरी ट्रेनिंग प्रभावित हुई है, विशेष रूप से क्योंकि मेरे लिए एमएमए एक नया खेल है। इसलिए यह एक चुनौतीपूर्ण दौर रहा है। मैं भी एक नए देश-सिंगापुर में रह रही हूं। इसलिए यह निश्चित रूप से कठिन है क्योंकि खेल नया है और देश नया है। इसके अलावा, मुझे सलाह देने के लिए मेरी बहन या मेरे पिता यहां नहीं हैं।"

दिग्गज कुश्ती कोच महावीर सिंह फोगाट की बेटी रितु भारत की पहली मिक्स्ड मार्शल आर्ट विश्व चैम्पियन बनना चाहती हैं और अपने इस सपने को सच करने के लिए वह दिन-रात मेहनत कर रही हैं।

उन्होंने कहा, "मेरी प्रेरणा हमेशा मेरे पिता और उनके शब्द रहे हैं। उन्होंने हमेशा मुझसे कहा है कि कुछ जीतने के लिए आपको बलिदान देना होगा। मेरा मुख्य लक्ष्य मेरे परिवार और मेरे देश को गौरवान्वित करना है। मैं यहां हूं और मैंने अपने देश को पीछे छोड़ा है, अपनी बहनों को पीछे छोड़ दिया है। इसलिए, मेरा एकमात्र ध्यान सबसे अच्छा करने पर है और यही मेरी प्रेरणा है।"

रितु ने अपनी प्रतिद्वंद्वी नोउ श्रे पोव के खिलाफ होने वाले मुकाबले में अपनी रणनीति को लेकर कहा, "वह एक अनुभवी एमएमए चैंपियन है और यह हम दोनों के बीच एक कठिन और रोमांचक मुकाबला होगा। मैं इसके लिए तैयार हूं और इसके लिए मैंने बहुत मेहनत की है। मैं इसमें अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए तैयार हूं। जहां तक रणनीतियों का सवाल है तो मैं चाहती हूं कि आप में से हर कोई एक कुछ ऐसी रणनीतियां देखें जिन्हें मैं प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ बनाती हूं।"

उन्होंने आगे कहा, "मैं एमएमए में विश्व चैंपियनशिप का खिताब जीतने के सपने को पूरा करने से ज्यादा दूर नहीं हूं, क्योंकि इसके लिए मैं लंबे समय से कड़ी मेहनत कर रही हूं। वन चैम्पियनशिप ने अगले साल एक ग्रैंड प्री टूर्नामेंट की भी घोषणा की है, जिसमें आठ चैंपियन होंगे।

रितु ने कहा, "मेरा लक्ष्य उस टूर्नामेंट में अपनी जगह बनाना है। हालांकि फिलहाल आगामी मैच पर मेरा ध्यान है। मेरी प्रतिद्वंद्वी एक अच्छी फाइटर है और मैंने उनकी ताकत तथा कमजोरियों को अच्छे से परखा है, जिसे आप मेरे मैच में देखेंगे।"

--आईएएनएस

ईजेडए/एसजीके

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss