पटना: बिहार विधानसभा चुनाव के सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहली रैली कल यानी शुक्रवार को 11.30 बजे सासाराम में और इसके बाद गया व भागलपुर में होगी। पहले दिन तीन अलग-अलग चुनावी रैलियों के जरिए प्रधानमंत्री करीब पौने सात लाख लोगों को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करेंगे, जबकि तीनों सभाओं में अलग-अलग जगहों पर 90 हजार लोग मौजूद रहेंगे। बिहार में अपने कार्यक्रम को लेकर पीएम ने गुरवार को एक ट्वीट भी किया है। 

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, कल बिहार के अपने भाइयों और बहनों के बीच रहने का अवसर मिलेगा। सासाराम, गया और भागलपुर में रैलियों को संबोधित करूंगा। इस दौरान एनडीए के विकास के एजेंडे को जनता-जनार्दन के सामने रखूंगा और उनसे अपने गठबंधन के लिए आशीर्वाद मांगूंगा। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) उम्मीदवारों के पक्ष में होने वाली चुनावी रैलियों में प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और अन्य घटक दलों के वरिष्ठ नेता भी मौजूद रहेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सासाराम व भागलपुर में प्रधानमंत्री मोदी के साथ मंच साझा करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 28 अक्टूबर को दरभंगा में होने वाले कार्यक्रम के दौरान विधि-व्यवस्था की स्थिति पर नजर रखने के लिए बिहार प्रशासनिक सेवा के पांच अफसरों को प्रतिनियुक्त किया गया है। प्रतिनियुक्त किए गए अफसरों में सामान्य प्रशासन विभाग में विभागीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, उपेंद्र प्रसाद, अरविंद कुमार, पदस्थापना की प्रतीक्षा में चल रहे शैलेश कुमार, नगर विकास एवं आवास विभाग में परियोजना पदाधिकारी बुद्ध प्रकाश तथा सूचना प्रावैधिकी विभाग में विशेष कार्य पदाधिकारी विशाल आनंद शामिल हैैं। 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को बिहार में कांग्रेस और राजद प्रत्याशियों के पक्ष में दो चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे। उनकी पहली चुनावी रैली नवादा के हिसुआ में जबकि दूसरी रैली भागलपुर के कहलगांव में होगी। राहुल गांधी की हिसुआ में होने वाली पहली रैली में राजद नेता तेजस्वी यादव भी शामिल रहेंगे। 

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती शुक्रवार को उपेंद्र कुशवाहा की अगुवाई वाली ग्रैंड यूनाइटेड सेक्युलर फ्रंट के उम्मीदवारों के समर्थन में रोहतास और कैमूर में चुनावी सभाएं करेंगी। 

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के हर सीजन की तरह इस समय संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में खेले जा रहे लीग के 13वें सीजन ने भी भारत को कई युवा खिलाड़ी दिए हैं। ऐसे खिलाड़ी जो आगे जाकर अंतर्राष्ट्रीय पटल पर नाम कमा सकते हैं। रवि बिश्नोई, राहुल तेवतिया, देवदत्त पडिकल, टी.नटराजन कार्तिक त्यागी- ऐसे नाम हैं जिन्होंने इस सीजन काफी प्रभावित किया है।

रवि बिश्नोई ने अंडर-19 विश्व कप में इस साल शानदार प्रदर्शन किया था और टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे थे। किंग्स इलेवन पंजाब के साथ उन्होंने 13वें सीजन से अपना आईपीएल पदार्पण किया और पहले मैच से ही लगातार प्रभावित कर रहे हैं। स्थिति यह है कि वह पंजाब के मुख्य गेंदबाजों में शुमार हो गए हैं।

इस लेग स्पिनर ने डेविड वार्नर, जॉनी बेयरस्टो, एरॉन फिंच, इयोन मोर्गन जैसे खिलाड़ियों को अपना शिकार बनाया है। उन्होंने अभी तक खेले 10 मैचों में नौ विकेट लिए हैं।

बिश्नोई के अलावा एक और युवा खिलाड़ी ने अपने पहले ही आईपीएल सीजन में दमदार प्रदर्शन किया और टीम की जिम्मेदारी को साझा किया है और वह हैं रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के देवदत्त पडिकल। विराट कोहली और अब्राहम डिविलियर्स की टीम बेंगलोर इन दोनों पर ही निर्भर रहती थी, लेकिन पडिकल ने इस साल स्थिति को बदला और वह टीम के मुख्य बल्लेबाज हैं जो लगातार रन कर रहे हैं। बतौर सलामी बल्लेबाज फिंच के साथ उनकी जोड़ी बेंगलोर की इस सीजन की अभी तक की सफलता का मुख्य कारण रही है।

कर्नाटक के बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने 10 मैचों में 321 रन बनाए हैं।

राहुल तेवतिया, अगर इस सीजन इस खिलाड़ी का नाम न लिया जाए तो बेमानी होगी। तेवतिया यूं तो पहले से आईपीएल खेल रहे हैं, लेकिन चमके हैं इस सीजन में। वह दिल्ली के लिए आईपीएल खेल चुके हैं, लेकिन इस सीजन 2008 की विजेता राजस्थान रॉयल्स के लिए खेल रहे हैं। अपनी बल्लेबाजी से तेवतिया ने टीम को दो ऐसे मैचों में जीत दिलाई, जहां हार तय लग रही थी।

पंजाब के खिलाफ शेल्डन कॉटरेल की गेंद पर मारे गए लगातार पांच छक्के, तवेतिया को सुर्खियों में ले आए थे। इसके बाद सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ रियान पारग के साथ मिलकर उन्होंने जिस तरह से टीम को जीत दिलाई। उसने तेवतिया की अहमियत को और बढ़ा दिया।

लेग स्पिनर तवेतिया ने गेंद से भी इस सीजन अच्छा किया है। 10 मैचों में 222 रन बनाने वाले तेवतिया ने गेंद से टीम को अहम पलों पर विकेट दिलाए हैं।

2016 की विजेता हैदराबाद के पास भी एक नाम है जिसने अपने प्रदर्शन से गुमनामी के बादलों को परे कर दिया और वह हैं बाएं हाथ के तेज गेंदबाज टी. नटराजन। भुवनेश्वर कुमार के चोटिल होने के बाद नटराजन ने जिस तरह से टीम की जिम्मेदारी संभाली है वह काबिलेतारीफ है। तमिलनाडु से आने वाले इस खिलाड़ी ने नौ मैचों में 11 विकेट लिए हैं। डेथ ओवरों में नटराजन की यॉर्कर गेंदें आकर्षण का केंद्र रही हैं।

अंडर-19 विश्व कप में फाइनल में जगह बनाने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे कार्तिक त्यागी एक और ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपनी परिपक्वता से बेहद प्रभावित किया है। राजस्थान ने उन्हें शुरुआत में कुछ मैचों में मौका नहीं दिया था। बाद में उन्होंने इस तरह का प्रदर्शन किया कि वेस्टइंडीज के इयान बिशॉप उनसे प्रभावित हुए बिना रह नहीं पाए।

छह मैचों में कार्तिक बेशक छह विकेट ले पाए हैं, लेकिन उन्होंने जिस परिपक्वता से गेंदबाजी की है और काबिलेतारीफ है। वह किस तरह से बल्लेबाजों को अपने जाल में फंसाते हैं वो चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेले गए मैच में उन्होंने शेन वाटसन को जिस तरह से अपने जाल में फंसाया था उससे पता चलता है।

--आईएएनएस

एकेयू/एसजीके

नई दिल्ली: दिल्ली यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर जारी एक आदेश में ऑपरेशनल रिसर्च विभाग के प्रोफेसर पीसी झा की नियुक्ति साउथ कैंपस के निदेशक और कार्यवाहक रजिस्ट्रार के रूप में की गई है। कुछ घंटे बाद ही डीयू ने एक नया आदेश जारी किया। इस आदेश में कार्यकारी वीसी पीसी जोशी ने झा को फौरन ऑफिस खाली करने का आदेश दे दिया। आईएएनएस के पास इन दोनों आदेशों की कॉपी मौजूद है। दरअसल डीयू के कुलपति प्रोफेसर योगेश त्यागी अस्वस्थ हैं। इसे देखते हुए दिल्ली विश्वविद्यालय में नए वाइस चांसलर की खोज शुरू की जा रही है। नए वाइस चांसलर की नियुक्ति से जुड़ी प्रारंभिक प्रक्रिया शुरू भी कर दी गई है। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने यह प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए हैं। वर्तमान वाइस चांसलर के कार्यकाल के मात्र 5 महीने शेष बचे हैं, जबकि नए वाइस चांसलर की नियुक्ति की प्रक्रिया 6 महीने पहले शुरू हो जाती है।

दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति की अनुपस्थिति में पूरा कार्यभार प्रोफेसर पीसी जोशी संभाल रहे हैं। डीयू के कुल सचिव पद के लिए 10 अक्टूबर को इंटरव्यू हुए थे। इसपर विचार विमर्श के लिए यूजीसी ने 20 अक्टूबर को ऑनलाइन बैठक बुलाई थी। लेकिन इस बैठक में भी कोई सहमति नहीं बन सकी।

दिल्ली विश्वविद्यालय में अब कुलसचिव के पद पर विकास गुप्ता की नियुक्ति की गई है। कार्यकारी परिषद ने विकास गुप्ता को बुधवार देर रात कुलसचिव नियुक्त किया। वहीं रजिस्ट्रार ऑफिस ने कार्यकारी परिषद को ही गैर कानूनी करार दिया है। बुधवार देर रात ही कार्यकारी कुलपति पीसी जोशी ने आर्डर जारी किया कि डीयू कर्मचारी पीसी झा का आदेश नहीं माने।

कार्यकारी कुलपति पीसी जोशी ने सूचना जारी कर बताया कि पीसी झा की नियुक्ति गलत है। उन्हें तत्काल कार्यालय खाली करने का आदेश दिया गया है। डीयू कार्यकारी परिषद ने प्रोफेसर विकास गुप्ता को कुलसचिव नियुक्त किया।

उधर दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष प्रोफेसर राजीव रे ने इस पूरे मामले पर अपनी आपत्ति दर्ज की है। उन्होंने कहा, "एक अधिकारी को हटाना, और धमकी भरे पत्र बेहद परेशान करने वाले हैं। जबकि एक रजिस्ट्रार ने कार्यालय पर कब्जा कर लिया था, दूसरा कार्यकारी परिषद की निर्धारित बैठक के सदस्य सचिव के रूप में कार्य कर रहा था, जिसे पूर्व ने रद्द, स्थगित कर दिया था। विश्वविद्यालय के इतिहास में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ है। यह दिन अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण और अपमानजनक हैं। यह केवल विश्वविद्यालय को अस्थिर करेगा और इसकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाएगा।"

--आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम

 

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेता शाहिद कपूर ने अपनी आगामी फिल्म जर्सी के लिए क्रिकेट प्रैक्टिस की तस्वीर साझा की है। शाहिद ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट किया, जिसमें वह स्ट्रेट ड्राइव लगाते दिख रहे हैं। उन्होंने इस दौरान ब्लैक टी-शर्ट, बास्केटबॉल शार्ट्स, लेग गार्ड, ग्लव्स और एक हेलमेट पहनी हुई है।

उन्होंने वीडियो के साथ लिखा, "अर्ली मोर्निग.ड्राइव के साथ शुरुआत।"

अभिनेता और सह अभिनेता म्रुणाल ठाकुर ने हाल ही में फिल्म के लिए उत्तराखंड शेड्यूल को समाप्त किया था। शाहिद ने राज्य सरकार का महामारी के दौरान समुचित सुरक्षा उपाय के साथ शूट की अनुमति देने के लिए शुक्रिया अदा किया।

जर्सी इसी नाम से बनी तेलुगू फिल्म की हिंदी रीमेक है। इस वर्जन को भी गौतम तिन्नानुरी ही निर्देशित कर रहे हैं।

उत्तराखंड में शूटिंग से पहले, टीम ने चंडीगढ़ में अपनी शूटिंग पूरी की थी।

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

नई दिल्ली: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने यहां केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर से मुलाकात कर राज्य से संबंधित मामलों पर चर्चा की और कैम्पा योजना को मंजूरी देने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों में काम करने गए उत्तराखंड के लोग कोविड-19 के कारण लाखों की संख्या में वापस अपने राज्य में आए हैं। राज्य सरकार ने इनके रोजगार के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना सहित अनेक कदम उठाए हैं। कैम्पा में भी 10 हजार लागों को रोजगार देने के लिए योजना बनाई गई है।

रावत ने कहा कि पर्यावरण और जैव विविधता के संरक्षण में उत्तराखंड की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। राज्य में मानव-वन्यजीव संघर्ष और वनाग्नि पर प्रभावी रोक लगाने के लिए भी कैम्पा के तहत 2020-21 के लिए 262 करोड़ 49 लाख रुपये की अतिरिक्त धनराशि का प्रस्ताव भारत सरकार के वन मंत्रालय को भेजा गया है। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री से इस प्रस्ताव की स्वीकृति का अनुरोध किया।

मुख्यमंत्री ने कहा, "उत्तराखंड में जंगली जानवरों द्वारा विशेष तौर पर बंदर, सूअर, और मैदानी क्षेत्रों में नील गाय खेती को नुकसान पहुंचाते हैं। पर्वतीय क्षेत्रों में लोगों पर लेपर्ड द्वारा हमले की घटनाओं को रोकने और जंगली जानवरों द्वारा खेती को नुकसान पहुंचाने से रोकने के लिए वन्यजीव रेस्क्यू सेंटर स्थापित किए जाने की जरूरत है।"

उन्होंने कहा कि वाइल्डलाफ रेस्क्यू सेंटर को वानिकी गतिविधियों के रूप में परिभाषित किया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि जावडेकर ने मुख्यमंत्री के अनुरोध पर अपनी सैद्धांतिक स्वीकृति दी।

--आईएएनएस

एमएसके/एसजीके

 

नई दिल्ली: भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवने ने गुरुवार को आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में नौसेना डॉकयार्ड में स्वदेश निर्मित आईएनएस कवरत्ती को भारतीय नौसेना में शामिल किया। पनडुब्बी रोधी युद्धक क्षमता से लैस आईएनएस कवरत्ती एक भारतीय प्रोजेक्ट के तहत चार स्वदेशी जहाजों में से आखिरी जहाज है।

इस मौके पर नरवने ने कहा, "आईएनएस कवरत्ती का कमीशन हमारे देश के समुद्री लक्ष्यों को हासिल करने के लिए एक और महत्वपूर्ण कदम है। मैं टीम कवरत्ती को अपनी शुभकामनाएं देता हूं।"

इसका डिजाइन नौसेना की शाखा नौसेना डिजाइन निदेशालय और गार्डन रिच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स (जीआरएसई) ने यह जंगी पोत तैयार किया है। आईएनएस कवरत्ती (पी-31) प्रोजेक्ट 28 (कमरोटा श्रेणी) के तहत तैयार किया गया है।

एक अधिकारी ने कहा कि द्वीपों के समूह लक्षद्वीप (केंद्र शासित प्रदेश) की राजधानी के नाम पर आईएनएस कवरत्ती का नाम रखा गया है। उन्होंने बताया कि इसका निर्माण उच्च ग्रेड डीएमआर 249ए स्टील के उपयोग से किया गया है और इसे भारत में निर्मित सबसे शक्तिशाली एएसडब्ल्यू जहाजों में से एक माना जा सकता है।

यह 3,300 टन के विस्थापन के साथ इसकी लंबाई 109 मीटर, जबकि चौड़ाई 14 मीटर है। जहाज चार डीजल इंजन द्वारा संचालित किया जाता है।

इस युद्धपोत की सबसे बड़ी खासियत है कि यह रडार की पकड़ में नहीं आता है। आईएनएस कवरत्ती अत्याधुनिक हथियार प्रणाली से लैस है। इसमें, ऐसे सेंसर लगे हैं जो पनडुब्बियों का पता लगाने और उनका पीछा करने में सक्षम हैं। इसमें रडार से बच निकलने के लिए ऐसे फीचर्स हैं जो कि दुश्मन की पहचान में आने के लिए जहाज को कम संवेदनशील बनाते हैं।

इस जहाज की अनूठी विशेषता यह है कि इसका निर्माण स्वदेशी है। यानी यह 'आत्मनिर्भर भारत' के राष्ट्रीय उद्देश्य को पूरा करते हुए एक बेहतरीन जहाज है। अधिकारी ने बताया कि पोत में उच्च स्वदेशी सामग्री का प्रयोग किया गया है, जिसमें युद्ध की स्थिति में लड़ने के लिए परमाणु, जैविक और रसायन (एनबीसी) का उपयोग हुआ है।

इसके अलावा, इसमें हथियार और सेंसर मुख्य रूप से स्वदेशी हैं और इस क्षेत्र में यह देश की उभरती क्षमता भी दिखाते हैं।

स्वदेशी रूप से विकसित किए गए कुछ प्रमुख उपकरणों या प्रणालियों में कॉम्बैट मैनेजमेंट सिस्टम, टॉरपीडो ट्यूब लॉन्चर्स और इंफ्रा-रेड सिग्नेचर सप्रैशन सिस्टम आदि शामिल हैं।

आईएनएस कवरत्ती के नौसेना में शामिल हो जाने से नौसेना की ताकत कई गुणा बढ़ गई है।

अपने सभी उपकरणों के समुद्री परीक्षणों को पूरा करने के बाद ही इस जहाज को पूर्वी नौसेना कमान में पूरी तरह से युद्ध के लिए तैयार मंच के रूप में कमीशन दिया गया है, जो कि भारतीय नौसेना की पनडुब्बी रोधी युद्ध क्षमता को बढ़ावा देता है।

आईएनएस कवरत्ती को इससे पहले के युद्धपोत (आईएनएस कवरत्ती पी-80) के पुनर्जन्म के तौर पर माना गया है। दरअसल उस जहाज ने 1971 में हुए भारत-पाकिस्तीन युद्ध में बड़ी अहम भूमिका निभाई थी।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम

मुंबई: अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा ने अपनी नवीनतम सोशल मीडिया पोस्ट में साल 2020 के बारे में बताने की कोशिश की है। उन्होंने इसके लिए तस्वीरों का सहारा लिया है। दरअसल सोनाक्षी ने इंस्टाग्राम में दो तस्वीरों को एकसाथ करके एक फोटो-कोलाज पोस्ट किया है।

पहली तस्वीर में सोनाक्षी पोज देते हुए नजर आ रही हैं, जिसके कैप्शन में वह लिखती हैं कि '2020 इस तरह से शुरू हुआ था।' वहीं दूसरी तस्वीर में वह मिडल फिंगर दिखाती है और तस्वीर के कैप्शन में लिखती हैं कि '2020 इस तरह से बीत रहा है।'

सोनाक्षी ने हाल ही में अपने बड़े भाई लव सिन्हा को उनके राजनीतिक करियर की शुरुआत के लिए शुभकामनाएं दी थीं। लव कांग्रेस के टिकट पर पटना से चुनाव लड़ेंगे।

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

नई दिल्ली: दिल्ली के सराय काले खां इलाके में रहने वाली 16 साल की एक लड़की ने अपने पड़ोसी लड़के पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। दक्षिण पूर्व दिल्ली के डीसीपी, आर.पी. मीणा ने कहा, "हमने आरोपी को पकड़ लिया है। लड़की और लड़का दोनों एक-दूसरे को तीन साल से जानते हैं। आगे की जांच जारी है।"

पुलिस अब आरोपी की उम्र का पता लगा रही है, क्योंकि वह नाबालिग प्रतीत होता है। उम्र के सत्यापन के बाद, कानून के अनुसार कार्रवाई शुरू की जाएगी।

--आईएएनएस

एसकेपी/एसजीके

तेहरान: ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि रूस, रक्षा क्षेत्र में ईरान का मुख्य सहयोगी है। ईरान प्रेस न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट से यह जानकारी मिली। वेबसाइट ने विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सईद खतीबजदेह के हवाले से कहा कि ईरान से हथियार प्रतिबंध हटाने के बाद, तेहरान और मास्को इस सेक्टर में अपना सहयोग बढ़ा सकते हैं।

ईरान और रूस लगातार संयुक्त रक्षा सहयोग आयोग के तहत वार्ता में हैं।

उन्होंने कहा कि प्रतिबंध हटाने से, ईरान अब अपने मित्र दोस्तों से बिना कानूनी अड़चनों के सैन्य उपकरण और हथियार खरीद सकता है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, खतीबजदेह ने कहा कि अमेरिका की ओर से ईरान पर एकतरफा प्रतिबंध लगाना अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है।

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

काबुल: अफगानिस्तान में गुरुवार को कोरोना के 116 नए मामले पाए गए, जिससे यहां इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 40,626 हो गई। देश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी पुष्टि की। मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "बीते 24 घंटों में, 440 संदिग्धों का टेस्ट किया गया, जिनमें से 116 कोरोना संक्रमित पाए गए। "

सिन्हुआ न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, फरवरी में महामारी फैलने के बाद से अबतक 1505 लोगों ने अपनी जान गंवाई है।

वहीं अबतक कुल 33,831 लोग इस महामारी से ठीक हो चुके हैं।

मंत्रालय के सांख्यिकी के अनुसार, मंत्रालय ने अबतक कुल 118,980 टेस्ट किए हैं।

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

Page 1 of 16406