मानसून में बालों की समस्या से ऐसे पाएं निजात
Wednesday, 24 June 2020 15:06

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: मानसून जल्द ही दस्तक देने वाला है। ऐसे में बालों का इस दौरान खास ख्याल रखने की जरूरत है। मानसून के मौसम में उमस के चलते बालों को तमाम समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इनमें बालों का उलझना, डैंड्रफ और इनका झड़ना बेहद आम है। ओशिया हर्बल्स के निदेशक दिलीप कुंडलिया की ओर से कुछ ऐसे बेहतरीन टिप्स सुझाए गए हैं, जिन्हें अपनाकर इन दिक्कतों का सामना किया जा सकता है।

बालों को टूटने से बचाने के लिए इन्हें झाड़ते वक्त एक चौड़े दांतेदार कंघी का ही प्रयोग करें।

कंघी हमेशा नीचे से शुरू कर जड़ों तक करें। इससे बालों की गांठे सुलझ जाएंगी और ये कम टूटेंगे।

शैम्पू लगाने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि बाल अच्छे से गीले हो और बालों को धोते वक्त गुनगुने पानी का ही इस्तेमाल करें।

आपके स्किन की ही तरह बालों को भी हाइड्रेशन की आवश्यकता पड़ती है, इसलिए पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। हमेशा संतुलित प्रोटीन युक्त आहार का सेवन करें और अपनी डायट में खूब सारी फलों व सब्जियों को शामिल करें।

बालों में कंडीश्नर लगाकर इसे कुछ समय तक के लिए छोड़ दें।

बाल अगर रूखे हैं, तो क्रीम बेस्ड शैम्पू और कंडीश्नर का इस्तेमाल करें। इसके साथ ही हेयर मास्क को अप्लाई करना भी न भूलें, इससे एक से दो महीने के लिए बालों में नमीं बरकरार रहेगी।

बेजान बालों में जान डालने के लिए 15 दिनों में एक बार तेल जरूर लगाएं और इसे लगाकर एक घंटे के लिए छोड़ दें और फिर शैम्पू से इसे अच्छे से धोकर कंडीश्नर अप्लाई कर लें। महीने में एक बार प्रोटीन से समृद्ध स्पा भी करवाए, जिससे जड़ों में नमीं को बरकरार रखने में मदद मिलें।

जिनके बाल हमेशा फ्लैट या चिपटे हुए रहते हैं, वे ऐसे शैम्पू व कंडीश्नर का प्रयोग करें, जिनसे बालों में एक्स्ट्रा वॉल्यूम ऐड हो। फ्लैट हेयर की समस्या का सामना उन्हें अकसर करना पड़ता है, जिनके बाल पलते व ऑयली होते हैं।

ऑयली हेयर/स्कैल्प के लिए लाइटवेट शैम्पू और कंडीश्नर सबसे उपयुक्त हैं। जेल बेस्ड प्रोडक्ट सबसे उत्तम है, इनसे बाल चिपचिपे बने नहीं रहते हैं।

डैंड्रफ से निपटना है, तो एंटी डैंड्रफ शैम्पू सबसे ज्यादा कारगर है। मानसून में बालों को स्वस्थ रखने के लिए सबसे बेहतर उपाय आखिर में यह है कि केमिकल से बने उत्पादों का इस्तेमाल कम ही करें, तो बेहतर है क्योंकि इनसे गंदी वगैरह के जड़ों में बसने की आशंका बनी रहती हैं।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.