कुडनकुलन संयंत्र के विरोध में मछुआरों का प्रदर्शन
Thursday, 14 March 2013 12:41

  • Print
  • Email

चेन्नई, 11 मार्च (आईएएनएस)| तमिलनाडु के कुडनकुलम में एक हजार मेगावाट के दो निर्माणधीन परमाणु ऊर्जा संयंत्रों के खिलाफ लगभग 8000 मछुआरे सोमवार को अपनी 600 नावों पर सवार होकर प्रदर्शन कर रहे हैं। यह जानकारी एक कार्यकर्त्ता ने दी। पीपुल्स मूवमेंट अगेंस्ट न्यूक्लियर एनर्जी (पीएमएएनई) के एक नेता ने आईएएनएस को फोन पर बताया, "कई गांवों से इकट्ठे हुए लगभग 8,000 मछुआरें परमाणु ऊर्जा संयंत्र के खिलाफ अपना विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। वे तकरीबन 600 नौकाओं पर सवार हैं।" नेता ने कहा कि प्रदर्शन अपराह्न् तीन बजे तक चलेगा।

पुष्परायन ने बताया कि प्रदर्शनकारियों के समर्थन में कुडनकुलम, इधिंथाकारै और चेत्तीकुलम सहित कई गांवों में लोगों ने प्रदर्शन के समर्थन में अपनी दुकानें बंद कर दी है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की समुद्री पुलिस समुद्र में गश्त कर रही है और एक खास पुलिस दल को कुडनकुलम और उसके आसपास के क्षेत्रों में तैनात किया गया है।

यह परमाणु विद्युत संयंत्र त्रिरुनेलवेली जिले के कुडनकुलम में भारतीय परमाणु विद्युत निगम(एनपीसीआईएल) द्वारा स्थापित किया जा रहा है।

कुडनकुलम परमाणु विद्युत परियोजना (केएनपीपी) के विरोध में समुद्र में यह चौथी बार प्रदर्शन आयोजित किया गया है।

एनपीसीआईएल केएनपीपी की पहली इकाई की जांच कर रहा है। इस इकाई में इस महीने नाभिकीय विखण्डन की प्रक्रिया शुरू होने की सम्भावना है।

इस बीच, जिला प्रशासन ने आगामी नौ अप्रैल तक कुडनकुलम के आसपास भारतीय अपराध दंड संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss