कांग्रेस ने राजनीतिक रसूख बचाने के लिए माले से भी हाथ मिलाया : रविशंकर प्रसाद
Saturday, 31 October 2020 10:19

  • Print
  • Email

पटना: केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को यहां महागठबंधन पर निशाना साधते हुए विपक्षी दलों से सवाल पूछा कि बिहार को 'जंगलराज' में झोंकने वाला कौन था। तेजस्वी बताएं कि उनके पिता के राज में कितने डॉक्टरों का अपहरण हुआ था। उन्होंने कहा कि पुराने शासन में 'तेल पिलावन लाठी घुमावन' का नारा दिया जाता, लेकिन आज नीतीश कुमार की सरकार और नरेंद्र मोदी के कारण बिहार के बच्चों के हाथों में स्मार्टफोन है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपनी राजनीतिक रसूख को बचाने के लिए माले से भी गठबंधन कर लिया।

पटना में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया।

उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में डिजिटल इंडिया के माध्यम से हमने देश को एक नई ऊंचाई दी है, जिसकी चर्चा पूरे विश्व में हो रही है। देश के गरीबों के पास 126 करोड़ आधार, 37 करोड़ बैंक खाते, 121 करोड़ मोबाइल फोन को जोड़कर पिछले साढ़े पांच सालों में गरीबों के खाते में 11 लाख करोड़ भेजे हैं जिसमें हमने एक लाख 70 हजार करोड़ रुपए बचाएं हैं, जो बिचौलिए खा जाते थे।"

बिहार में अब तक 33 डिजिटल पासपोर्ट सेवा केंद्र खोले गए हैं, बिहार के 3140 कोर्ट ई-कोर्ट हो चुके हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में युवाओं ने 15 हजार ई-स्टोर खोले हैं जहां से देश भर में सामान भेजा जाता है। बिहार की लीची को मुजफ्फरपुर के बागान से उठाकर लंदन तक पहुंचा दिया गया है।

उन्होंने कहा, "पुराने शासन में 'तेल पिलावन लाठी घुमावन' का नारा दिया जाता लेकिन आज नीतीश कुमार की सरकार और नरेंद्र मोदी के आशीर्वाद से बिहार के बच्चों के हाथों में स्मार्टफोन है। अब गांव-गांव अप्टिकल फाइबर नेटवर्क ले जा रहे हैं। जिसके बाद गांवों में डिजिटल स्किलिंग और डिजिटल कोचिंग शुरू होंगे और स्वरोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।"

विपक्ष पर जोरदार सियासी हमला करते हुए उन्होंने कहा, "पटना में तेजस्वी के पोस्टर लगे हैं जिसमें नया बिहार बनाने की बात की गई है लेकिन वो बताएं कि उनके पिता के राज में पटना में कितने डक्टरों का अपहरण हुआ था ? कितने डक्टरों के यहां रंगदारी के लिए स्लिप जाया करती थी ?"

कांग्रेस से सवाल पूछते हुए उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस पार्टी भाकपा (माले) के साथ खड़ी है, माले ने बिहार में क्या-क्या किया, ये सब जानते हैं? कितने लोगों के गर्दन काटे गए, लेकिन कांग्रेस ने अपनी राजनीतिक रसूख को बचाने के लिए उनसे भी गठबंधन कर लिया।

--आईएएनएस

एमएनपी/आरएचए

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss