डिजिटल शिक्षा व टेलीमेडिसिन में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी की अहम भूमिका : रविशंकर
Sunday, 30 August 2020 09:51

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आत्मनिर्भर भारत मुहिम के तहत चुनौतियों को अवसर में बदलना है। सरकार का मिशन अवसरों को भारत के ग्रामीण क्षेत्र के कोने-कोने तक ले जाना है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के समय में डिजिटल शिक्षा, डिजिटल स्किलिंग और टेलीमेडिसिन आदि की दिशा में अपार संभावनाएं हैं। इसमें ग्रामीण भारत में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी अहम भूमिका निभाएगी।

प्रसाद ने शनिवार को नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए नए बिहार विधानमंडल परिसर में एक अगली पीढ़ी के नेटवर्क टेलीफोन एक्सचेंज और भारत एयर फाइबर सेवा का उद्घाटन किया।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, "भारत एयर फाइबर हमें तेजी से आगे बढ़ने और एक हजार दिनों में 6 लाख गांवों को शामिल करने के लक्ष्य को पूरा करने में मदद देगा। भारत एयरफायबर बिना लाइसेंस वाले स्पेक्ट्रम पर काम करता है, जो लगाने में आसान और अधिक विश्वसनीय है।"

प्रसाद ने बताया कि बिहार में अगले 6 महीनों के भीतर 50 और एयरफाइबर सेक्टर एंटेना लगाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि नया भारत एयर फाइबर ग्रामीण क्षेत्र में तेज और विश्वसनीय इंटरनेट सेवाएं प्रदान करने में मदद करेगा, भारत एयर फाइबर की उच्च गति वाले फाइबर एफटीटीएच के बराबर स्पीड है। पूरी तरह से वायरलेस तकनीक होने के कारण इसे लगाना आसान है, यह अधिक विश्वसनीय है, इसे कम रखरखाव की जरूरत है। भारत एयर फायबर अपने शुल्क की शुरुआत 349 रुपये प्रति माह से करेगी। इससे गांवों और कठिन इलाकों में उपयोगकर्ताओं को सुलभ और सस्ता इंटरनेट सुविधा मिल सकेगी।

--आईएएनएस

एनएनएम/एसजीके

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.